न्यायधानी में महिला की कोरोना से मौत, बेटा भी संक्रमित, 10 दिनों से निजी अस्पताल में चल रहा था इलाज..

शेयर करें...

बिलासपुर/ जिले में कोरोना से एक महिला की मौत हो गई। उसका इलाज बीते 10 दिनों से शहर के अलग-अलग निजी अस्पताल में चल रहा था। बीते शनिवार को उसने दम तोड़ा है। जांच में उसका 21 वर्षीय बेटा भी कोरोना पॉजिटिव निकला है।

व्यापार विहार के श्रीराम टावर के पास रहने वाली 43 वर्षीय महिला की हालत बीते 10 दिनों से गंभीर बनी हुई थी। वह सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित थी। जिसके हालत में सुधार नहीं हो पा रहा था। 16 मार्च को सिम्स के पास स्थित एक निजी अस्पताल में उसे गंभीर हालत में भर्ती किया गया। जांच में उसका ऑक्सीजन लेवल 40 पाया गया। वहीं लक्षण से उसके कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका भी बढ़ गई। ऐसे में अस्पताल प्रबंधन ने उसका आरटीपीसीआर कोरोना टेस्ट कराया।

17 मार्च को उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। ऐसे में महिला को गंभीर हालत में वेंटिलेटर में रखकर इलाज किया जा रहा था। 18 मार्च की शाम उसकी मौत हो गई। इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दी गई। इसके बाद कोरोना प्रोटोकॉल के तहत शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजन को सौंपा गया। वहीं उसका बेटा भी संक्रमित हो चुका है। उसका इलाज आइसोलेशन में रखकर किया जा रहा है।

जानकारी छिपाते रहे विभाग के अफसर

कई निजी अस्पतालों से मिली जानकारी के अनुसार ट्रेवल हिस्ट्री वाले कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। उनका कई निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। जबकि स्वास्थ्य विभाग को आंकड़ों में जिले में कोरोना की स्थिति लगातार दिनों में शून्य दिखाया जा रहा है। कोरोना से महिला की मौत 18 मार्च को हुई है, लेकिन इस बात को भी सार्वजनिक नहीं किया गया था।

स्वास्थ्य विभाग के जारी आंकड़ों के मुताबिक छत्तीसगढ़ में बीते 24 घंटे में 66 सैंपलों की जांच हुई। जिसमें एक भी कोरोना मरीज नहीं मिले हैं। वहीं किसी की मौत भी नहीं हुई है। प्रदेश की पॉजिटिविटी दर शून्य है। 25 जिलों में कोई सक्रिय मरीज भी नहीं हैं।

Scroll to Top