छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले चल रहा था प्रदेश स्तरीय आंदोलन, कर्मचारियों को मधुमक्खियों ने मारा डंक, 6 को गंभीर चोट..

शेयर करें...

रायपुर/ छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के बैनर तले प्रदेशभर के कर्मचारियों ने शुक्रवार को आंदोलन किया। 4 सूत्रीय प्रमुख मांगों को लेकर आंदोलन चल रहा था । रायपुर के मंत्रालय स्थित इंद्रावती भवन में भी कर्मचारी आंदोलन कर रहे थे मगर मधुमक्खियों की वजह से प्रदर्शन रोकना पड़ा।

जूनियर कर्मचारी सीनियर कर्मचारियों से भी नहीं डरे और छुट्टी लेकर आंदोलन में शामिल हो गए , मगर मधुमक्खियों के आगे इनका आंदोलन नहीं चल सका। सुबह मंत्रालय में विरोध प्रदर्शन के बाद कैंपस के बाहर ही रैली निकाली गई थी। रैली से यह कर्मचारी मंत्रालय भवन की ओर लौट रहे थे तभी मधुमक्खियों का झुंड कर्मचारियों पर टूट पड़ा।

मंत्रालय की इमारत के ऊपरी हिस्से पर कुछ मधुमक्खी के छत्ते हैं। इन्हीं में से निकली मधुमक्खियों ने रैली कर रहे कर्मचारियों को डंक मारा। मधुमक्खियों का झुंड जब कर्मचारियों पर मंडराने लगा तो कर्मचारी खुद को बचाकर भागने लगे मगर 10 से 15 कर्मचारी खुद को बचा नहीं सके। इनमें से 5 से 6 कर्मचारियों को गंभीर चोट आई है जिन का इलाज करवाया जा रहा है।

इन कर्मचारियों को आई चोट

राजेश पटेल (26) जयपाल सिंह (36) अंकुश साहू (27) सुप्रियो सील (22) मिलन खूटे (35) शैलेंद्र सोनी (58)

ये हैं प्रमुख मांगे:-

  1. 14 सूत्रीय मांगों पर वेतन विसंगति सहित अन्य मुद्दों के लिए गठित पिंगुआ कमेटी की रिपोर्ट तत्काल सरकार को सौंपी जाएl
  2. कर्मचारियों एवं पेंशनरों को केंद्र के समान लंबित 5% महंगाई भत्ता एवं सातवें वेतनमान के अनुरूप गृह भाड़ा भत्ता दिया जाएl
  3. कांग्रेस घोषणा पत्र अनुसार राज्य कर्मचारियों को चार स्तरीय पदोन्नत वेतनमान दिया जाएl
  4. पुराना बस स्टैंड पंडरी, रायपुर को धरना स्थल घोषित किया जाए l

Scroll to Top